आपके ‘कपडे’ के तरीके से पता चलता है आपका ‘कैरेक्टर’!


कपड़े न सिर्फ आपका शरीर ढकने का काम करते हैं बल्कि यह आपके व्यक्तित्व और आत्मविश्वाश को भी दर्शाने का काम करते हैं. किसी भी व्यक्ति के कपड़ो से उसकी सामाजिक स्थिति और सोच का भी अंदाजा लगाया जा सकता है. ढीले कपडे- ढीले कपड़े पहनने वाला व्यक्ति सीधा और शांत स्वभाव का होता है, […]

कपड़े न सिर्फ आपका शरीर ढकने का काम करते हैं बल्कि यह आपके व्यक्तित्व और आत्मविश्वाश को भी दर्शाने का काम करते हैं. किसी भी व्यक्ति के कपड़ो से उसकी सामाजिक स्थिति और सोच का भी अंदाजा लगाया जा सकता है.
ढीले कपडे- ढीले कपड़े पहनने वाला व्यक्ति सीधा और शांत स्वभाव का होता है, ऐसे लोग बहुत धेर्यशील और दुसरो की मदद करने वाले होते हैं.

तंग कपड़े- ऐसे व्यक्ति चुस्त और निडर स्वभाव के होते हैं, इनका दिमाग हर वक़्त किसी ना किसी विचार मे लगा रहता हैं . इन्हें दिखावा और बहसबाजी करना पसंद होता हैं. ज्यादा देर तक कोई काम करना इन्हें पसन्द नही होता है.
ब्रांडेड कपडे- ये बहुत ही महत्वकांक्षी होते हैं, सदैव ऊपर उठना चाहते हैं. इनमे आमतौर पर आत्मविश्वास की कमी देखने को मिलती हैं जिसे यह छिपाते रहते हैं.दूसरों के प्रति इनमे जलन और द्वेष की भावना पनपती रहती है। ये सदैव होड़ में लगे रहते हैं.

हाथ से बने कपड़े -ऐसे वस्त्र पहनने वाले लोग सबसे हँसकर मिलने वाले, भावुक होते हैं. इन्हें अपने सभी कार्य खुद करना पसंद होता हैं. इनकी बातों मे दया का सागर समाया होता है.
लाल रंग -इस रंग के कपड़े अधिक पहनने वाले लोग आमतौर पर क्रोधी, अत्यधिक उत्साही, ऊर्जा से परिपूर्ण तथा प्रबल इच्छाशक्ति से भरपूर होते हैं. ये जो एक बार ठान लेते हैं उसे करके ही मानते हैं. इनमे धैर्य की बहुत कमी होती है।
काला रंग- यह रंग त्याग के साथ ही कुछ रहस्यात्मकता को भी दर्शाता हैं जिसके कारण इसे पहनने वाले लोग उत्तम कोटि के विचारवान व स्वप्रेरित होते हैं. इन्हें खुद पर पूरा नियंत्रण होता है।
सफ़ेद रंग- यह रंग पहनने वाले जातक स्वभाव से शांत,स्पष्ट बात करने वाले व अधिक आशावादी होते हैं. ये लोग सादा जीवन बिताना पसन्द करते हैं.

पीला रंग- ये जातक चुनौती को पसंद करने वाले, दूसरों को प्रेरणा प्रदान करने वाले व अपने कार्यो मे लगे रहने वाले होते हैं. आध्यात्मिकता के प्रति भी इनमे लगाव देखने को मिलता है.
नीला रंग – ऐसे लोग खुद से आत्मनिर्भर व विचारशील होते हैं. इनका दृष्टिकोण हमेशा कल्पना व व्यावहारिक दोनों से परिपूर्ण होता हैं. ये स्वभाव से शांत एवं ज़्यादा श्रम करने वाले तथा किसी भी बात की गहराई में जाने वाले होते हैं.
हरा रंग- यह लोग अपनी बोली से किसी को भी अपना बना सकते हैं परंतु किसी पर जल्दी से विश्वास नहीं करते. अपने मनमर्जी तरीके से जीने के शौकीन यह लोग हमेशा किसी के अधीन रहना पसंद करते हैं.
भूरा रंग- यह जातक स्वावलंबी, खुद जीवन जीने वाले तथा किसी के नियंत्रण में नही रहते हैं. यह अच्छे मार्गदर्शक साबित हो सकते हैं पर समय का नियोजन ना कर पाने के कारण तनाव में अपना जीवन बिताते हैं.
गुलाबी रंग- इस रंग को ज्यादा पहनने वाले जातक सबको प्यार करने वाले व समझदार किस्म के होते हैं परंतु इनमे इच्छाशक्ति का अभाव भी देखा गया है. अपनी उम्र के हिसाब से इनमे बचपना नही जाता है.

No comments:

Post a comment